गोरखपुरः ऑक्सीजन की कमी के चलते बच्चों की मौत पर योगी सरकार का एक्शन… पढें

उत्तर प्रदेश। गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में कथित तौर पर ऑक्सीजन की कमी के चलते बच्चों की मौत के मामले में आखिरकार हजरतगंज थाने में मामला दर्ज हो गया है। IPC की धारा 420, 308, 120 B, भ्रष्टाचार निवारण अधीनियम समेत 6 धाराओं में केस दर्ज किया गया है। बीआरडी मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन की पूर्ति करने वाली कंपनी पुष्पा सेल्स के संचालकों, प्राचार्य डॅा राजीव मिश्र व उनकी पत्नी समेत सात चिकित्सकों और कर्मचारियों को नामजद किया गया हैं।

इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने बच्चों की मौत के मामले की जांच मुख्य सचिव राजीव कुमार को सौंपी थी। जांच रिपोर्ट आने के बाद सरकार ने मामले को गंभीर मानते हुए पुलिस में मामला दर्ज कराने के आदेश दिए हैं। साथ ही चिकित्सा शिक्षा की अपर मुख्य सचिव अनीता भटनागर जैन को हटा दिया गया था। गोरखपुर मेडिकल कॉलेज के प्रधानाचार्य पर लापरवाही बरतने के आरोप सही पाए गए। भ्रष्टाचार की वजह स पुष्पा सेल्स के 68 लाख रुपये का भुगतान रोकने का भी मामला सामने आया है।

बतादें कि गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में कथित तौर पर ऑक्सीजन की कमी के कारण करीब 60 बच्चों की मौत हो गई थी। जिससे प्रदेश सरकार की किरकरी होने में कोई कसर नहीं छोडी थी। इसके बाद सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मामले की जांच. के आदेश दिए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *